कही अनकही विचार मंच 15 March 2019

हिंदी विभाग के कही अनकही विचार मंच की ओर से आयोजित परिचर्चा मे इतिहास विभाग की अध्यक्ष प्रो. अंजू सूरी मुख्य वक्ता के रूप में शामिल हुईं। प्रो. अंजू सूरी ने ‘जलियांवाला बाग : शहादत के सौ वर्ष’ विषय पर अपनी प्रस्तुति दी, जिसमें उन्होंने जलियांवाला नरसंहार की घटना को अंजाम देने के पीछे अंग्रेजी सरकार के मंसूबों, परिणाम और उस समय की पंजाब की परिस्थितियों, और उसका भारत की स्वतंत्रता संग्राम पर पड़ने वाले प्रभावों पर अपने विचार प्रस्तुत किए। उन्होंने बताया की भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में जलियांवाला बाग शायद सबसे महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई

परिचर्चा का संचालन शोधार्थी सुअम्बदा ने किया।

कार्यक्रम में विभागाध्यक्ष डॉ. गुरमीत सिंह, प्रो. सत्यपाल सहगल, पंकज श्रीवास्तव (दर्शनशास्र विभाग) भी उपस्थित रहे। इस परिचर्चा में शोधार्थियों और विद्यार्थियों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

Leave a Comment